दोगले पाकिस्तान का दोहरा चरित्र, रामज़ानों में भी सीजफायर का उलंघन

 

 

पाकिस्तान के दोगलेपन का हर बार उदाहरण कम पड़ जाता है, पाकिस्तान को न हिन्दुओं के त्यौहार से मतलब है ना मुस्लिमों के रोजे से। पाक पवित्र महीना चल रहा है लेकिन दोगला पाकिस्तान अपनी दोगली हरकतों से बाज नहीं आता है।
आतंकवादियो की पनाहगाह बनते जा रहे पाकिस्तान की सोच भी वैसे ही हो गयी है। ऐसा लग रहा है जैसे पाकिस्तान का इंसानियत से कोई मतलब नहीं रह गया है।
जम्मू-कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान का दोगला चरित्र सामने आ रहा है। रविवार सुबह तक जहां पाकिस्तान रहम की भीख मांग रहा था, वहीं रात आते-आते उसने अपना दूसरा चेहरा दुनिया के सामने दिखा दिया। रविवार रात से ही अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन कर गोलीबारी की जा रही है। पाकिस्तान की ओर से कल रात से अरनिया सेक्टर में लगातार गोलीबारी की जा रही है। यहां एक थाने पर भी मोर्टार गिरे हैं जिसमें एसपी समेत तमाम पुलिसकर्मी बाल-बाल बचे हैं। जबकि एक पुलिसकर्मी को चोट आई है। साथ ही थाने के कई वाहनों को नुकसान पहुंचा है।

पांच किमी क्षेेत्र के सभी स्कूल बंद
पाकिस्तान की ओर से बॉर्डर पर अरनिया सेक्टर में गोलीबारी अभी भी जारी है। गोलीबारी को देखते हुए बीएसएफ और पुलिस ने गांव वालों से अपने घर से बाहर ना निकलने को कहा है। गोलीबारी के कारण ही सोमवार को अरनिया के आस-पास के 5 किमी क्षेत्र के सभी स्कूलों को बंद किया गया है।

 

त्रेवा गांव को बनाया निशाना
अरनिया क्षेत्र के त्रेवा गांव को भी निशाना बनाया गया है। सीमा पार से इस गांव में भी मोर्टार दागे गए हैं। इलाके के देवीगढ़ गांव में फायरिंग की जा रही है। आपको बता दें कि रविवार को दिन में पाकिस्तान ने पहले रहम की भीख मांगी और बीएसएफ से सीमा पर फायरिंग बंद करने की गुहार लगाई और फिर रात करीब 10.10 बजे गोलीबारी शुरू कर दी।

वह रमजान के महीने में भी सीमा पर सीजफायर करने से बाज नहीं आ रहा है।

 

 

 

Be the first to comment

Leave a Reply