रालोसपा सांसद डॉ अरुण कुमार ने नई पार्टी बनाकर बिहार की राजनीति गर्मायी : Khabar Inside

 

 

 

 

“बिहार की राजनीति में एक बड़ा नाम, रालोसपा के जहानाबाद सांसद डॉ. अरुण कुमार, एक ऐसा नाम जिन्होंने बिहार के सीएम नीतीश कुमार को उनके खिलाफ चुनाव प्रचार करने पर मजबूर कर दिया था। बात बेशक पुरानी हो लेकिन भारत की राजनीति में अपनी पहचान बना चुके डॉ. अरुण कुमार आज खुद अपने नाम से जाने जाते हैं।”

 

 

रालोसपा (अरुण गुट) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जहानाबाद के सांसद डॉ अरुण कुमार ने एसकेएम हॉल में गुरुवार 28 जून को संत कबीर दास की जयंती पर आयोजित समारोह में राष्ट्रीय समता पार्टी (सेक्युलर) नामक नई पार्टी बनाई। हालांकि, उन्होंने खुद और रालोसपा विधायक ललन पासवान ने नई पार्टी की सदस्यता ग्रहण नहीं की। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अजय अलमस्त और प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश बिंद बनाए गए हैं। इस मौके पर सांसद ने राज्य सरकार और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कानून, शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है। अपराधी बेलगाम हो गए हैं। वे खुलेआम घूम रहे हैं और निर्दाेष फंसाए जा रहे हैं। पुलिस सिर्फ बालू एवं दारू में फंसी है। प्रदेश में अंधा राज है। अपराधी के सहयोग से सत्ता चलाने की कोशिश की जा रही है। जनता परेशान है। बिहार संकट में है। नीतीश को सोचना और सचेत होना होगा।

 

 

बता दें कि पार्टी के गठन के अवसर पर सांसद डा. अरूण कुमार ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि हम कबीर के विचारों को लेकर चलते हैं, कबीर ने कहा था कि कौन किस धर्म को मानता है मुझे उससे कोई लेना-देना नहीं। मगर कबीर का का एक ही धर्म था कि अंतिम पायदान पर रहने वाले को रोटी मिले। उन्होंने कहा कि मेरे बारे में कोई क्या सोचता है इसकी मुझे परवाह नहीं।

 

 

उन्होंने कहा कि मैं एक शिक्षक का पुत्र हूँ आज जो सत्ता में है और जो सत्ता से बाहर है उन्होंने शिक्षा की दुर्गती कर दी है। हम सामाजिक न्याय की विचारधारा को लेकर चलते हैं मगर शिक्षा को आज बंदरबांट करने के लिए सरकार और सरकार के बाहर बैठे लोग हैं वे भी कम जिम्मेवार नहीं है। जब 1977 में मैं एक रोगी को बिहार से लेकर दिल्ली एम्स गया था तब उस समय वहां का रजिस्ट्रेशन फी पांच रुपया था और आज पचास हजार हो गया। मैं तमाम राजनीतिक दलों से आह्वान करता हूँ कि गरीब रिक्शा वाला जो 50 हजार रुपया खर्च करके अपना इलाज करवा सकता है।

उन्होंने कहा कि उतर प्रदेश, हरियाणा, पश्चिम बंगाल, नॉर्थ-ईस्ट के काफी साथी जॉर्ज के विचारों पर काम कर रहे हैं वे सभी लोग आज आये हुए हैं इसके लिए मैं उन्हें धन्यवाद देता हूँ। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के शासनकाल में कृषि, शिक्षा एवं स्वास्थ्य ये तीनों एजेंडा फेलियर साबित हुआ है। आज ये लोग केवल माल कमाने में लगे हैं। गरीब से कोई मतलब नहीं, धर्म और जाति को बांट कर रखे हुए हैं। उन्होंने कहा कि मैं संसद में रहूँ या बाहर मुझे इसकी चिंता नहीं है मुझे चिंता गरीबों की। मैं एक सेकुलर नेता था और सेकुलर ही रहूंगा तथा अंतिम पायदान में रहने वालों लोगों के लिए हक की लड़ाई लडूंगा।

मुझे जॉर्ज फर्नांडीस राजनारायण जैसे लोगों के साथ रहकर सीखने का मौका मिला। आज समाजवादी का चिंतन-मंथन करने वाले जितने नेता हैं उन्हें समझ में आना चाहिए कि राजनारायण जी के पास आठ सौ एकड़ जमीन थे वे धनी परिवार से थे जिन्होंने अपनी जमीन गरीबों के बीच बांट दी। आज समाजवाद कहलाने वाले रातोंरात अरबों खरबों का मालिक बनना चाहता है। नीतीश कुमार को चिंता करनी चाहिए कि बिहार में क्राइम बढ़ गया है। पुलिस निर्दोष को पकड़कर जेल में डाल रही है।

उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को चेतावनी देते हुए कहा कि समय रहते जाग जाइये, लोग जागरूक हो रहे हैं। जनता आपके दरवाजे पर खड़ी है और आप घोर निद्रा में सोये हुए हैं। याद रखिये एक दिन यही गरीब जनता आपको सबक सिखायेगी। आपकी पुलिस दारू और बालू में फंसे हुई है। मुझे सीट और वोट की चिंता नहीं है मुझे चिंता है गरीबों की। समाजवाद का नारा होता है कि किसी भी धर्म के लोग गरीबों को तंग न करें। जिस दिन गरीब हथियार उठा लेगा, उस दिन सरकार और अपराधी को भागने की जगह तक नहीं मिलेगी।

उन्होंने कहा कि जननायक कर्पूरी ठाकुर, लोकनायक जयप्रकाश नारायण, शहीद जगदेव बाबू ने असली समाजवाद का नारा देने का काम किया था। उन्होंने जात और जमात से हटकर काम किये। सांसद ने कहा कि राष्ट्रीय समता पार्टी सेकुलर जॉर्ज एवं कर्पूरी ठाकुर, जगदेव बाबू, जयप्रकाश नारायण, राजनाराण की बातों को जन-जन तक पहुंचाएगी, मुझे सीट और वोट की चिंता नहीं है अंतिम पायदान में रहने वाले चाहे किसी जाति का हो उसकी चिंता है।

उन्‍होंने कहा कि वे सीट की नहीं अवाम की चिंता करते हैं। लड़ाई समाजवाद का नाटक करके पूंजी उगाही करने वालों से है। लोहिया, जेपी, कर्पूरी और जगदेव बाबू के मूल्यों को बेकार नहीं जाने देंगे।

इस अवसर पर विधायक ललन पासवान, अजय अलमस्त, ओम प्रकाश बिंद, विज्ञान स्वरूप, मेजर अमर सिंह चौहान, कुमारी ज्योति, गौतम कपूर चंद्रवंशी, विद्यापति चौधरी, मो. खुर्शीद आलम, विकास, चितरंजन कुमार, समाजसेवी विजय कुमार आदि उपस्थित रहे।

******

News Desk : Khabar Inside Bureau, patna

Be the first to comment

Leave a Reply