निर्भया के माता-पिता से मिलने के बाद छलके मिसेज इंडिया पूजा यादव के आंसू

मिसेज इंडिया 2018 का ताज जीतकर हरियाणा का नाम रोशन करने वाली पूजा यादव 16 दिसंबर को दिल्ली में आयी हुई थीं। मौका था 16 दिसंबर 2012 को हुए निर्भया कांड की बरसी का। इस दिन को निर्भया के माता पिता निर्भया की याद में चेतना दिवस के रूप में मनाते हैं। 16 दिसंबर 2012 को हुए अब तक के सबसे हैवानियत भरे और दर्दनाक कांड को शायद देश कभी भुला नहीं पायेगा, बहादुर बेटी निर्भया ने इस देश, समाज को झकझोर कर रख दिया है। आखिर कब तक होते रहंगे बेटियों पर इस तरह के अत्याचार? समाज कब जागेगा? आज बेटी पढ़ रही है बढ़ रही है, बेटी में हिम्मत है अपने पैरों पर खड़े होने की, वो किसी पर आश्रित नहीं होना चाहती है। फिर वो कौनसा समाज है जो बेटियों को घिनौनी नज़र से देखता है?
जी हां यह कहना है मिसेज इंडिया 2018 की रनरअप पूजा यादव का। मिसेज इंडिया बनी पूजा यादव कहती हैं कि बेटियों ने हर क्षेत्र में अपनी मेहनत और लगन के बलबूते अपने परिवार का नाम रोशन किया है। जिनके बेटियां होती हैं वे माँ बाप अपने आपको भाग्यशाली समझते हैं फिर वो कौनसा समाज है जो बेटियों को बेटियां नहीं मानता, उन्हें समझना नहीं चाहता? उनकी तरक्की नहीं देखना चाहता? दिल्ली के एक कार्यक्रम में पूजा यादव आयी थीं। बता दें कि निर्भया की याद में निर्भया के माता पिता 16 दिसंबर को चेतना दिवस के रूप में मनाते हैं और समाज को जागरूक करने का काम करते हैं ताकि कोई बेटी निर्भया जैसा शिकार न हो सके।
इसी मौके पर मिसेज इंडिया पूजा यादव, पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की बेटी शर्मिठा मुखर्जी निर्भया के माता पिता के साथ मौजूद रहीं। पूजा यादव के गले लगने के बाद निर्भया की माँ की आंखों में आंसू आ गए जिससे पूजा भी भावुक हो उठीं। और उनकी आंखों में भी आंसू आ गए।
पूजा यादव ने पूरे देश से अपील की कि बेटियों को सभी अपनी जिम्मेदारी समझें, बेटियां हर कदम पर आगे हैं बस जरूरत है उन्हें समझने की। पूजा यादव ने कहा कि आज बेटियां सड़क पर अकेली निकलने से डरती हैं और सबसे बड़ा डर उनके माँ बाप का होता है। सरकार को बलात्कार के लिए कड़े सा कड़ा कानून बनाना चाहिए ताकि हैवानों में कानून के प्रति उनके मन में डर पैदा हो सके और वो बेटियों के साथ हैवानियत करने से पहले सौ बार सोचें।

Source Khabar 24 Express

Be the first to comment

Leave a Reply